Friday, June 25, 2010

देखिये, नामवर सिंह क्या कहते हैं?


शनिवार 26 जून की सुबह 7 :50 बजे डी डी नेशनल चैनल पर प्रख्यात आलोचक नामवर सिंह और कवि मदन कश्यप उपन्यास उत्तर वनवास पर चर्चा करेंगे। यह दूसरी बार है, जब नामवर जी उत्तर वनवास पर कुछ कहेंगे इससे पहले इसके लोकार्पण के अवसर पर उन्होंने कहा था कि 'उत्तर-वनवास आभास देता है एक पौराणिक नाम और कथा का, परंतु वास्तव में आज के यथार्थ की सच्ची कहानी है।' देखिये इस बार क्या कहते हैं।
कार्यक्रम विवरण
शनिवार 26 जून, सुबह 7 :50 बजे
डी डी नेशनल चैनल
कार्यक्रम : आज सवेरे (शब्द निरंतर)

10 comments:

अशोक कुमार पाण्डेय said...

ज़रूर देखेंगे…और वे अच्छा ही कहेंगे

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

अरुण जी, नहीं देख पाएंगे यह कार्यक्रम। हम यात्रा में होंगे। इस का पोडकास्ट या वीडियो रेकार्ड कर प्रस्तुत करें तो बेहतर होगा।

सुलभ § Sulabh said...

अरुण जी, आपकी ये पुस्तक आधार प्रकाशन से है न. http://www.aadharprakashan.com/

जैसा कि द्विवेदी जी ने कहा, इस की रपट लगा देंगे.

Arun Aditya said...

जी हाँ सुलभ जी, यह पुस्तक आधार प्रकाशन से ही आई है। उनका पता है-
आधार प्रकाशन
एस सी एफ-267, सेक्टर-16
पंचकूला, हरियाणा।

ई-मेल - aadhar_prakashan@yahoo.com

website: http://www.aadharprakashan.com

आधार प्रकाशन के संचालक और साहित्यिक पत्रिका पल-प्रतिपल के संपादक देश निर्मोही का मोबाइल नंबर है- 09417267004

बोधिसत्व said...

bahut ahut badhayi bhayi

अजित वडनेरकर said...

बधाई। हमें इंतजार है विवरण का। देखने की कोशिश भी करेंगे।

varsha said...

zaroor dekhungi....umeed karti hoon ki dd nazar aa jaye.

sidheshwer said...

जरूर देखेंगे भाई !
बढ़िया है आपका उपन्यास!
अब वे जो भी कहे!
देखॆंगे!

प्रदीप कांत said...

जग गये तो ज़रूर देखेंगे।

शरद कोकास said...

अब भाई जो बड़े कहेंगे सो ठीक ही कहेंगे