Friday, March 5, 2010

तर्पण और उत्तर वनवास पर चर्चा


तर्पण और उत्तर वनवास पर चर्चा

स्व. द्वारिका प्रसाद सक्सेना स्मृति न्यास के तत्वावधान में

शिवमूर्ति के उपन्यास तर्पण
और अरुण आदित्य
के उपन्यास उत्तर वनवास
पर आयोजित विचार गोष्ठी में
आप सादर आमंत्रित हैं।

दिनांक- रविवार, 7 मार्च, 2010
समय - अपराह्न 2 बजे
स्थान- इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेंट स्टडीज
ए-8 बी, सेक्टर-62, नोएडा



आमंत्रित अतिथिगण

अध्यक्षता- राजेंद्र यादव

मुख्य अतिथि- संजीव, चित्रा मुद्गल, भारत भारद्वाज

विशिष्ट अतिथि - वल्लभ डोभाल, मैत्रेयी पुष्पा, हरि नारायण, अपूर्व जोशी, अशोक माहेश्वरी, देश निर्मोही

प्रमुख वक्ता- महेश दर्पण, मदन कश्यप, विज्ञानव्रत, सुषमा जुगरान, तजेंद्र लूथरा, रमेश प्रजाप्रति, देवेंद्र कुमार देवेश। संचालन- वीरेंद्र आजम।

17 comments:

Mithilesh dubey said...

शुभकामानएं आपको ।

शरद कोकास said...

बधाई हो अरुण । सभीको मेरा नमस्कार कहें ।

अविनाश वाचस्पति said...

शुभकामनाएं दे सकता हूं मैं भी। सो दे रहा हूं। मैं आया भी तो मुझे पहचानेगा कौन ?

Arun Aditya said...

avinash vachaspati ji, aapko kaun nahin pahchaanta.

shashi said...

Badhai arun ji appka upanyas kafi charcha me hai in dino. mouka laga to hum bhi aayenge.
shashi bhooshan dwivedi

संदीप पाण्डेय said...

हमारी भी शुभकामनाएं लीजिए।

अविनाश वाचस्पति said...

आदित्‍य जी धन्‍यवाद इस जर्रानवाजी के लिए। अब जब यहां पर वापिस आया हूं तब तक तो कार्यक्रम सफलतापूर्वक संपन्‍न हो चुका होगा। अगली बार कार्यक्रम की सूचना दीजिएगा अवश्‍य उपस्थित होने का प्रयास करूंगा। मेरे नंबर 09868166586/09711537664 हैं।

Arun Aditya said...
This comment has been removed by the author.
Arun Aditya said...

जो आये और जो नहीं आ सके, सभी मित्रों को धन्‍यवाद। ऊपर कार्यक्रम का एक फोटो लगा दिया है।

प्रदीप कांत said...

हमारी भी शुभकामनाएं

manoj singh said...

must read novel.......it is diferent

अजेय said...

सुन कर अच्छा लगा...पढ़ कर और भी अच्छा लगेगा.

ved vilas uniyal said...

unfortunatlly i missed this event, we were not informed about it
ved

Suraj Singh Solanki said...

हमारी भी शुभकामनाएं लीजिए।

प्रमोद रंजन said...

upanyas kedonoa ans pad gaya. Aapki Bhasha prabhvit karti hai.

Kitab ke patna pahuchne ka intjar kar raha hun...Filhal,BADHAI!

Hapi said...

hello... hapi blogging... have a nice day! just visiting here....

rakeshindore.blogspot.com said...

Bhai arun ji since long you have not posted any new creation, we are waiting. congratultion .